Author Archives: santosh73

About santosh73

teacher by profession, interested in creative writing

कविता- आतंक

‘आतंक’ ‘दहशत’ अहसास है आतंक का हैवानियत की हदें पार होती है, मासूमों की हत्याओं से लक्ष्य पूरे किये जाते हैं. ऊँची अट्टालिकाओं में होते हैं अपराध और खून बिखरता है सड़कों पर, माँ के आँचल से दूर होते लालों … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

ज़िन्दगी एक सफ़र

उषा काल की बेला में सदा दी है ज़िन्दगी के तरानों नें देखो खिली हैं नई उमंगे अब छोड के दामन मायूसी का चल उठ बढता जा तू आगे थाम के हाथ अपनों का मंजिल खुद ब खुद तेरे कदमों … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Hello world!

Welcome to WordPress.com. This is your first post. Edit or delete it and start blogging!

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 1 टिप्पणी